The smart Trick of Vashikaran Simple Method That Nobody is Discussing +91-9914666697




My son was Great in studies and game titles. He used to secure Great marks and used to win prizes in game titles also but one day he had some fever and laid on the bed for rest. But after two day his feve...r was not decreasing then we met Physician he wrote some medicines even so the fever was not decreasing and my son was talking like mad.

बाबा शब्द फारसी और इस्लामी संस्कृति का एक शब्द है जिसका हिंदी या संस्कृत में कोई उल्लेख नहीं है परन्तु इसे दुस्प्रचारित किया गया की ये शब्द संस्कृत का है

आज तक ऐसा कोई महानुभाव मुझे नहीं मिला जो मेरे प्रशनो के उत्तर दे पाया हो, क्या किसी साईं भक्त में इतनी बुद्धि विवेक या साहस नहीं की वो अंधभक्ति छोड़ कर प्रशनो का उत्तर दे सके,

ये जो नीचे फोटो है …… ऐसे फोटो आजकल चोराहों पर लगाकार …भगवान का खुलेआम अपमान और हिन्दुओ को मूर्ख बनाया जा रहा है ?

(7) Kamakhya Vashi Karan Mantra A simplest mantra . This mantra is be recited 1 lakh moments for siddhi. Replace the name on the lady or person instead of phrase Amuk in mantra.

It appears like you might be having challenges taking part in this video. If that's so, you should attempt restarting your browser.

मित्रो ये प्रशन भी बड़ा अजीब है, आखिर सबका मालिक एक कैसे हो सकता है? क्या दुर्योधन और युधिस्ठिर का एक मालिक था, यदि था तो उनकी लड़ाई क्यों हुई, लड़ाई हुई थी इसका मतलब या तो वो एक मालिक गलत था या मालिक एक नहीं था, इस बात का उत्तर आप अपने मन में टटोले, उत्तर अवश्य मिलेगा

यः पौरुषेयेण क्रविषा समङ्क्ते यो अश्व्येन पशुना यातुधानः

अर्थात एक मालिक बाकी नौकर, जबकि हमारी संस्कृती में ईश्वर मालिक और भक्त नौकर नहीं होते, वो तो पिता और पुत्र समान होते है नौकर और मालिक का कांसेप्ट तो घटिया मजहब इस्लाम की देन है,

तनिक विचारेँ क्या इतने चौपाईयोँ के होने पर भी उसे चालिसा कहा जा सकता है??

हाथ जल जाने के पश्चात एक कुष्ठ-पीडित भक्त भागोजी सिंदिया उनके हाथ पर सदैव पट्टी बाँधते थे । उनका कार्य था प्रतिदिन जले हुए स्थान पर घी मलना और उसके ऊपर एक पत्ता रखकर पट्टियों से उसे पुनः पूर्ववत् कस कर बाँध देना । घाव शीघ्र भर जाये, इसके लिये नानासाहेब चाँदोरकर ने पट्टी छोड़ने तथा डाँ.

People who claimed they feels faith in Sai’s worship are unfamiliar with the real muslim encounter of sai. Sai was a standard muslim fakir or beggar getting no supernatural electricity. So individuals who say sai is god are shows their disrespect for Hindus deities.

यदि साईं का था check here तो क्यू ? अभी तो साईं ने कुछ करतब नही दिखाया ! तात्या क्या देख कर भक्त बना !

जब भगवान अवतार लेते है तो सम्पूर्ण पृथ्वी उनके यश से उनकी गाथाओ से अलंकृत हो जाती है… उनके जीवनकाल मे ही उनका यश शिखर पर होता है….परन्तु !!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *